Dandraua dham sarkar : दंदरौआ धाम कैसे जाएं संपूर्ण जानकारी

Dandraua dham sarkar : दंदरौआ सरकार धाम कहा हैं, ग्वालियर से दंदरौआ धाम कैसे जाए, कानपुर से दंदरौआ धाम कैसे जाए, दंदरौआ धाम की कथा, दंदरौआ धाम फोटो आज इस पोस्ट में इन सभी सवालों के बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं, दंदरौआ धाम के बारे में।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज हम दोस्तों ऐसे पावन मंदिर के बारे में बताने वाले हैं, जहां पर की श्रद्धालुओं का मानना है, कि वहां पर जाने से उनके सभी, रोगों का निदान हो जाता है, इस पावन स्थल का नाम है।

दंदरौआ धाम कहा हैं

दंदरौआ धाम मध्यप्रदेश के जिला भिंड, तहसील मेहगांव, के एक छोटे से गांव का नाम दंदरौआ है, उसी गांव में स्थित एक पावन मंदिर है, मंदिर का नाम दंदरौआ सरकार रखा गया है,और उस स्थान का नाम डॉक्टर हनुमान भी है।

पता : जिला भिंड, तहसील मेहगांव, ग्राम दंदरौआ।

दंदरौआ धाम में क्या होता है

दंदरौआ धाम में जाने से,श्रद्धालुओं का मानना है, कि उनके सभी रोगों का निदान हो जाता है, यह दंदरौआ धाम पुरे देश में विख्यात है, यहां पर हनुमान जी का मंदिर है, और हनुमान जी को, डॉक्टर हनुमान जी के नाम से भी जाना जाता है, यहां पर हनुमान जी की मूर्ति नित्य की मुद्रा में है, माना जाता है की यह देश की अकेली ऐसी मूर्ति है, जिसमें हनुमान जी को नित्य करते दिखाया गया है,मंदिर की पांच परिक्रमा करने पर , फोड़े अल्सर और कैंसर जैसी बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं, श्रद्धालुओं का दर्द हरने वाले हनुमान जी को दर्द हरवा हनुमान जी भी कहा जाता है, यहां पर लाखों की संख्या में लोग आते हैं, और अपने रोगों से छुटकारा पाते हैं, दंदरौआ धाम की महिमा भी बागेश्वर धाम जैसी मानी जाती है, यहां पर हनुमान जी अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं।

इसे भी पढ़े , Bageshwar Dham Mantra क्या है, बागेश्वर धाम मंत्र के फायदे क्या हैं ?

दंदरौआ धाम कब जाना चाहिए ?

जैसा कि दोस्तों आपको पता ही होगा कि, अभी बागेश्वर धाम पूरे विश्व में प्रसिद्ध है, लेकिन बागेश्वर धाम जाने के लिए बागेश्वर धाम के बाबा जी ने बताया कि बागेश्वर धाम कब जाना चाहिए, और कितनी बार जाना चाहिए, बागेश्वर धाम के बाबा जी ने कहा कि बागेश्वर धाम पर आप मंगलवार को जाएं या फिर शनिवार को जाएं, वैसे ही दंदरौआ धाम के पावन स्थान पर हमें मंगलवार या शनिवार के दिन ही जाना चाहिए, क्योंकि मंगलवार और शनिवार हनुमान जी का दिन माना जाता है, और दंदरौआ धाम सरकार में हनुमान जी की ही कृपा से सभी कस्टो का निवारण होता है, इसलिए हमें दंदरौआ धाम या बागेश्वर धाम शनिवार या मंगलवार को जाना चाहिए

दंदरौआ धाम की महिमा ?

जानकारी के लिए आपको बता दें कि, दंदरौआ धाम सरकार पूरे भारत देश में विख्यात पवन स्थान है, क्योंकि दंदरौआ धाम सरकार मैं हनुमान जी की मूर्ति नित्या की मुद्रा में है, इसलिए दंदरौआ धाम पूरे भारत देश में प्रसिद्ध धाम है, दंदरौआ धाम सरकार की महिमा इस प्रकार है, दंदरौआ धाम सरकार के इस पावन मंदिर से ऐसे ऐसे लोग सही हो चुके हैं, जिन्होंने अपने जीवन की आशा तोड़ दी थी, जैसे कि कैंसिल वाले लोग भी यहां पर ठीक हो जाते हैं, और श्रद्धालुओं का मानना है, कि यहां पर आने से आपके सभी कस्टम को दंदरौआ धाम सरकार के डॉक्टर हनुमान जी दूर कर देते हैं।

इसे भी पढ़े , { TOP 6 } बागेश्वर धाम से जुड़े महत्पूर्ण प्रश्नों के उत्तर अर्जी , फीस , कहां हैं, पता पूरी जानकारी

ग्वालियर से दंदरौआ धाम कैसे जाए

ग्वालियर से दंदरौआ धाम की दूरी 56 किलोमीटर है, यदि आप ग्वालियर से दंदरौआ धाम, शेयरिंग कार से जाना चाहते हैं,तो आपको वहां से बहुत सी गाड़ियां मिल जाती हैं, जो आपको बारादरी तक पहुंचा देंगी, बारादरी से थोड़ी आएंगे दंदरौआ धाम है, आपको ग्वालियर रेलवे स्टेशन से,दंदरौआ तक का 150 रुपए किराया लगेगा, और यदि आप अपनी पर्सनल गाड़ी से जाते हैं,तो आपको पहले बारादरी जाना होगा, 30 किलोमीटर आगे दंदरौआ धाम मिलेगा, और यदि आप ऑटो को बुक करते हैं,तो आपका 1500 सो रुपए खर्च होगा,और ज्यादा जानकारी के लिए आप, गूगल मैप का इस्तेमाल कर सकते हैं, और आप किसी से भी पूछ सकते हैं।

कानपुर से दंदरौआ धाम की दूरी

क्या आप कानपुर से दंदरौआ धाम जाना चाहते हैं, यदि आप कानपुर से दंदरौआ धाम जाना चाहते हैं, तो आपको जानकारी होनी बहुत जरूरी है, चलिए तो हम आपको बताते हैं, कानपुर दंदरौआ धाम की दूरी, 226 किलोमीटर है, यदि पर्सनल गाड़ी से जाते हैं, तो आपको लगभग 5 घंटे का समय लगता है, और यदि आप ट्रेन से आना चाहते है, तो पहले आपको भिंड आना होगा,और फिर आप को ग्वालियर के लिए चलें, ग्वालियर से आटो से भी आप जा सकते हैं, और दंदरौआ धाम में अर्जी लगा सकते हैं,

इसे भी पढ़े , PM Awas Yojana Gramin List 2024 : पीएम आवास योजना ग्रामीण सूची कैसे देखें जाने पूरी जानकारी

Delhi se dandraua Dham ki duri kitni hai ?
दिल्ली से दंदरौआ धाम की दूरी।

दिल्ली से दंदरौआ धाम की दूरी, 416 किलोमीटर है, और दोस्तों दिल्ली से दंदरौआ धाम जाने में लगभग 7 से 8 घंटे का समय लग सकता हैं,दोस्तों आपको बता दें कि दिल्ली को भारतवर्ष की राजधानी का दर्जा दिया गया है, हमारे भारत देश में दिल्ली एक ऐसा शहर है जहां से लाखों लोग आते जाते रहते हैं, दिल्ली से जो भी भक्त दंदरौआ धाम सरकार के दर्शन करने आते हैं उनको 416 किलोमीटर का सफर तय करके आना पड़ता है, अब दोस्तों आपको बताते हैं कि दिल्ली से दंदरौआ धाम कैसे जाएं।

Delhi se dandraua Dham kaise jaen ?
दिल्ली से दंदरौआ धाम कैसे जाएं।

दिल्ली से दंदरौआ धाम कैसे पहुंचे। दिल्ली से दंदरौआ धाम जाने के लिए आपको बस ट्रेन की सुविधा मिल जाएगी, जैसा कि दोस्तों आप जानते हैं कि दिल्ली भारत का मुख्य शहर है, दिल्ली से आपको देश के हर कोने में जाने के लिए वाहन मिल जाएगा। दिल्ली से आप दंदरौआ धाम बस से या फिर ट्रेन से पहुंच सकते हैं, हम आपको बताएंगे कि दिल्ली से दंदरौआ धाम कैसे जाएं वह भी बिना किसी दिक्कत के, तो चलिए जानते हैं कि दिल्ली से दंदरौआ धाम कैसे पहुंचे बस से और ट्रेन से।

दिल्ली से दंदरौआ धाम बस से कैसे जाएं।

दिल्ली से दंदरौआ धाम बस से जाने के लिए आपको दिल्ली से देशभर में किसी भी जगह जाने के लिए दिल्ली से आपको बस मिल जाएगी। दिल्ली से दंदरौआ धाम के लिए डायरेक्ट बस नहीं है। इसलिए आप को बस चेंज करते हुए ग्वालियर तक आना होगा। फिर ग्वालियर से आपको 56 किलोमीटर ऑटो पर सफर करना पड़ेगा तब आप दंदरौआ धाम सरकार के धाम पर पहुंच सकते हो l अब आपको बताते हैं कि दिल्ली से दंदरौआ धाम ट्रेन से कैसे पहुंचे।

दिल्ली से दंदरौआ धाम ट्रेन से कैसे पहुंचे।

Delhi se dandraua Dham train se kaise pahunche ? दंदरौआ धाम सरकार का मंदिर एक जाने माने शहर में पड़ता है उस शहर का नाम है ग्वालियर और ग्वालियर रेलवे स्टेशन बहुत पहले से है, ग्वालियर देश के बड़े-बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है, आप दिल्ली से ग्वालियर के लिए ट्रेन पकड़ कर ग्वालियर तक आ जाएं। उसके बाद ग्वालियर से दंदरौआ धाम की दूरी मात्र 56 किलोमीटर है, जो कि आप टैक्सी या फिर गाड़ी बुक करके सीधे दंदरौआ धाम सरकार के दरबार में पहुंच जाएंगे।

डॉक्टर हनुमान मंदिर कहां पर है

मध्य प्रदेश के, जिला भिंड, तहसील मेहगांव ग्राम दंदरौआ है,
दंदरौआ धाम का दूसरा नाम डॉक्टर हनुमान हैं, दंदरौआ के बाबा जी बताते हैं, कि एक बार मेरी तबीयत बहुत ज्यादा खराब हो चुकी थी, यहां तक कि मेरे ईलाज के लिए डॉक्टरों ने तक मना कर दिया था, तभी हनुमान जी डॉक्टर बन कर आएं थे, तभी से इस मंदिर का नाम डॉक्टर हनुमान मंदिर रखा गया था, यहां पर आने से किसी भी, तरह की बीमारी ठीक हो जाती है, दंदरौआ धाम को ही, डॉक्टर हनुमान मंदिर कहा जाता है,

इसे भी पढ़े , Bageshwar Dham Katha Schedule 2024 | बागेश्वर धाम कथा सूची 2024

दंदरौआ धाम सरकार की फोटो

दंदरौआ धाम सरकार का मंदिर, यह प्रसिद्ध प्राचीन मंदिर है, यहां के बालाजी की मूर्ति,नित्य की मुद्रा में है, जिसे देखकर आप भी हैरान हो जाएंगे, देश का एक ऐसा अनोखा मंदिर है, जहां पर बालाजी की मूर्ति नित्य की मुद्रा में है, यह रही दंदरौआ सरकार ओर, डॉक्टर हनुमान जी की फोटो।

Leave a comment

WhatsApp Join Button